U P लखनऊ के गौतमपल्ली इलाके में शनिवार को रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी राजेश दत्त बाजपेई की नेशनल शूटर नाबालिग बेटी ने मां मालिनी (48) और बडे़ भाई सर्वदत्त (19) की गोली मारकर हत्या कर दी।

0
142

U P लखनऊ के गौतमपल्ली इलाके में शनिवार को रेलवे के वरिष्ठ अधिकारी राजेश दत्त बाजपेई की नेशनल शूटर नाबालिग बेटी ने मां मालिनी (48) और बडे़ भाई सर्वदत्त (19) की गोली मारकर हत्या कर दी। वारदात के बाद उसने फोन कर गोमतीनगर में अपनी नानी को सूचना दी। दोपहर को कंट्रोल रूम में दोहरे हत्याकांड की जानकारी मिली तो हड़कंप मच गया। डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी अैर पुलिस आयुक्त सुजीत पांडेय समेत फोरेंसिक विशेषज्ञों और डॉग स्क्वॉड ने घटनास्थल पहुंचकर छानबीन शुरू की। पुलिस को मौके से पॉइंट 22 बोर की एक पिस्टल मिली है। पुलिस आयुक्त ने बताया कि अधिकारी की बेटी डिप्रेशन की मरीज है। उसने किसी बात को लेकर पलंग पर सो रही मां और भाई पर ताबड़तोड़ पांच गोलियां चलाईं, जिसमें से मालिनी को दो और सर्वदत्त को एक गोली लगी। उसेे हिरासत में ले लिया गया है। वारदात में इस्तेमाल पिस्टल बरामद कर ली गई है।

पुलिस आयुक्त ने बताया कि राजेश दत्त बाजपेई रेलवे बोर्ड में बतौर एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर इन्फार्मेशन तैनात हैं और दिल्ली में रहते हैं। यहां गौतमपल्ली के विवेकानंद मार्ग पर बंगला नंबर एक में उनकी पत्नी मालिनी, बेटा सर्वदत्त और 16 वर्षीय बेटी रह रही थी। दोपहर करीब सवा तीन बजे पुलिस कंट्रोल रूम को नानी ने मालिनी और सर्वदत्त की हत्या की सूचना दी। मौके पर पहुंची पुलिस को अधिकारी की बेटी सदमे में मिली। उसके दोनों हाथों पर धारदार हथियार से खरोंचों के निशान थे। वह कुछ भी बोलने की स्थिति में नहीं थी।
पुलिस ने घुमा-फिराकर बेटी से की पूछताछ तो कुबूला जुर्म

पुलिस की एक टीम ने डॉक्टर को बुलवाकर अधिकारी की बेटी इलाज शुरू कराया। मां-बेटे के शव पलंग पर पड़े हुए थे। दोनों के शरीर पर चादरें थीं। शवों की स्थिति देखकर ऐसा लग रहा था जैसे दोनों को सोते वक्त गोलियां मारी गई हैं। मालिनी की कनपटी पर दो गोलियां लगी थीं, जबकि सर्वदत्त के सिर पर माथे से ऊपर के हिस्से में एक गोली लगी है। दो गोलियां शीशे पर भी लगी थीं। बंगले की जांच में लूटपाट या बदमाशों के आने की पुष्टि नहीं हुई। पुलिस ने हत्या का राज घर पर ही होने की आशंका से छानबीन करते हुए बंगले के पीछे स्थित सर्वेंट क्वार्टर में रहने वाले नौकरों से पूछताछ की तो बेटी पर शक गहरा गया। पुलिस ने घुमा-फिरा कर बेटी से पूछताछ की तो उसने हत्या की बात कुबूल करते हुए पिस्टल बरामद करा दी।