सिंगरौली (विंध्यनगर)

बीते 20 दिसंबर कि रात जामा मस्जिद के पिछवाड़े स्थित नर्सरी में गला घोंट कर महिला कि हुई हत्या के मामले में पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है !

जानकारी के मुताबिक मृतका बिंदू साकेत कुछ दिनों पूर्व अपने पति से अलगाव बाद नवजीवन विहार निवासी अजय नामक युवक से कथित विवाह कर अपने दो मासूम बच्चों के साथ रह रही थी,
इसी बीच 20 दिसंबर को उसके पूर्व पति देवशरण साकेत आकर इंदु से दबाव बनाने लगा कि बच्चों सहित वापस चलने दबाव बनाने लगा काफी देर रात तक वाद विवाद के बाद आरोपी पति देवशरण ने बिंदू को पटक कर गला दबा कर मौत के घाट उतार दिया और उसके साथ ज्यादती भी की !
आरोपी ने घटना पश्चात शव को नर्सरी के और अंदर ले जा कर फेंक भागा !

बताया जाता है कि आरोपी घटना के बाद दोनों मासूम बच्चों को लेकर फरार हो गया था

तत्संबंध में पुलिस ने बताया कि घटना कि पड़ताल में आस पास के लोगों पर आशंका थी काफी पूछताछ उपरांत पूर्व आरोपी पति को ढूंढ निकाला गया और पूरा घटना क्रम सामने आया ।इस कार्रवाई में एसआई आर एम तिवारी, आंचल सिंह ,एनपी तिवारी, अशोक शर्मा, प्र.आ.वीरेन्द्र त्रिपाठी, सुनील पाठक,राजेश शुक्ला, रामबहोरी आरक्षक अजय,आनंद, रवी,एवं कमल कि भूमिका उल्लेखनीय रही।
पत्नी कि बेवफाई और मासूम बच्चों के भविष्य कि चिंता ने बना दिया “कातिल”
पूरे घटनाक्रम पर गौर करें तो ये बात सामने आती है कि जिसके संग सात जन्मों तक साथ निभाने का वचन दिया अग्नि के सात फेरे लिए
उस पत्नी कि बेवफाई और मासूम बच्चों कि चिंता देवशरण को खाए जा रही थी काफी आरजू मिन्नत करने दबाव बनाने के बावजूद जब बिंदू टस से मस नहीं हुई और वंश गोपाल संभवत ये कदम उठाया ।

बोले पुलिस अफसर

मृतका एवं आरोपी पति पत्नी थे दोनों में अनबन के बाद अलगाव हो गया था और मृतका बिंदु अपने दो मासूम बच्चों के सहित कुछ माह से नवजीवन बिहार में अपने दूसरे पति के साथ रहा करती थी
इसी बीच 20 दिसंबर को आरोपी यहां आकर वापस ले जाने कोशिश किया तथा विवाद के बाद आरोपी ने गला घोटकर बिंदु कि हत्या कर दी थी वरिष्ठ अधिकारियों के मार्गदर्शन में आरोपी के विरुद्ध धारा 302,201के तहत मामला दर्ज कर गिरफ्तार लिया गया है