महिला पुलिस को पति ने चापड़ से काट उतारा मौत के घाट

0
131
उत्तर प्रदेश : कानपुर में नौबस्ता के खाड़ेपुर नई बस्ती में अवैध संबंध के शक में वीरेंद्र सिंह भदौरिया ने अपनी पत्नी हेड कॉन्स्टेबल शारदा भदौरिया को सुबह चापढ़ से काट डाला। इस हत्या को अंजाम देने के बाद वह फरार हो गया था । मां की चीख सुनकर शौच गया बड़ा बेटा शिव सिंह पहुंचा और दरवाजा खोलने की कोशिश की तो अंदर से बंद था। बेटा दरवाजे की कुंडी तोड़कर अंदर घुसा तो पिता खून से सना चापड़ लिए खड़ा था। मां को लहूलुहान देख शिव ने फत्तेपुर निवासी मौसेरे भाई कपिल को सूचना दी। इस सूचना के बाद कपिल के पहुंचने पर दोनों शारदा भदौरिया को आनन फानन रीजेंसी हॉस्पिटल ले गए। जहां डॉक्टर्स ने उनको मृत घोषित कर दिया ।
घटना की जानकारी मिलते ही नौबस्ता पुलिस मौके पर पहुंची और हत्यारोपी पति को गिरफ्तार कर लिया। जानकारी के अनुसार महिला सिपाही उन्नाव थाना क्षेत्र में तैनात थी।
बेटे ने बताया कि पापा मम्मी पर शक करते थे। साथ ही मोबाइल की कॉल डिटेल व अन्य चीजें चेक करते थे। यही नहीं कई बार बिना जानकारी के अचानक उन्नाव थाने पहुंच जाते और थाने के बाहर घंटों बैठे रहते थे।

इस मामले में एसपी साउथ रवीना त्यागी ने बताया कि नौबस्ता क्षेत्र में पति द्वारा उन्नाव सदर कोतवाली में तैनात हेड कांस्टेबल शारदा भदौरिया (48) की हत्या का मामला सामने आया है। महिला  कांस्टेबल वर्तमान में कर्रही में रह रही थी।

बेटे की तहरीर पर हत्यारोपी पति के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। पुलिस व फॉरेंसिक टीम द्वारा घटना स्थल का निरीक्षण कर लिया गया है। आरोपी पुलिस की गिरफ्त में है। अग्रिम वैधानिक कार्यवाही की जा रही है।
एसपी साउथ रवीना त्यागी का कहना है कि बेटे की तहरीर पिता के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया गया है। आरोपी ने अवैध संबंधों के शक में हेड कांस्टेबल पत्नी की हत्या की है, जिसे उसने कबूल किया है।
हेड कांस्टेबल शारदा रिटायर्ड दरोगा सुखलाल सिंह कछवाह की बेटी थी। सुखलाल ने बताया कि शादी के समय  वीरेंद्र गुजरात की एक प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता था, लेकिन बाद वह नौकरी छोड़कर घर लौट आया। आर्थिक स्थित को देखते हुए उन्होंने बेटी को वर्ष 96 में पुलिस में भर्ती कराया। हाल ही बेटी की पदोन्नति हुई थी। बेटी उन्नाव के कोतवाली में हेड कांस्टेबल थी।
वीरेंद्र ने हेड कांस्टेबल पत्नी के सिर, पेट, हाथ और कमर पर दो दर्जन वार किए। इसकी पुष्टि पोस्टमार्टम रिपोर्ट से हुई है। सिर की हड्डी टूटने से उसकी मौत हुई। श्याम नगर निवासी 37वाहिनी पीएसी में तैनात साढ़ू महेंद्र सोलंकी ने बताया कि कुछ समय से वीरेंद्र की मानसिक स्थिति ठीक नहीं थी। उसने कई बार शारदा को टोका, लेकिन वह मानने को तैयार नहीं थी। शक के कारण ही उसने शारदा का मोबाइल भी छीन लिया था। ड्यूटी भी साथ लेकर आता जाता था। इतना ही नहीं मोबाइल पर खतरनाक वीडियो देखा करता था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here